छत्तीसगढ़ बड़ी खबर

रसूखदारों की गिरफ्तारी से मचा हड़कंप, मोबाइल से खुलेगा राज! उधर क्लब संचालको को मिली अग्रिम जमानत

रायपुर, 15 अक्टूबर-  पुलिस ने बुधवार को ड्रग्स मामले में गिरफ्तार किये दोनो आरोपितों संभव पारख और हर्षदीप जुनेजा को कोर्ट में पेश किया जहा से दोनों को जेल भेज दिया गया है। पुलिस ने संभव पारख और हर्षदीप जुनेजा का नाम ड्रग पैडलर निकिता पांचाल के मोबाइल चैट में आने के बाद बुधवार शाम को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने दोनों के मोबाइल को जब्त कर जाँच के लिए भेज दिया वही देर शाम को कोर्ट ने दोनों की जमानत अर्जी नामंजूर करते हुए जेल भेज दिया है। सूत्रों की माने तो संभव पारख ने कुछ और लोगो का नाम पुलिस को बताया है पर पुलिस इंकार कर रही है। संभव की गिरफ्तारी के बाद बड़े रसूखदारों में हड़कंप मचा हुआ है।

जैन का करीबी ड्रग्स मामले में गिरफ्तार, पुलिस की पूछताछ जारी… चर्चित और रसुखदारो का नाम आएगा सामने?

संभव, हर्षदीप के मोबाइल खोलेंगे राज-

गिरफ्तार संभव पारख और हर्षदीप के मोबाइल में तमाम बड़े नाम सामने आएंगे जिसे राजधानी पुलिस ढूंढ रही है। संभव पारख के क्वींस क्लब स्थित हाई स्ट्रीट लाउंज में राजधानी सहित प्रदेश के तमाम बड़े रसूखदार पार्टी करने पहुंचते थे। जहा उन्हें हुक्का सहित नशे का हर सामान मिलता था। जहा बंद दरवाजे के पीछे खुलेआम अलसुबह तक पार्टी होती थी। संभव के मोबाइल की पुलिस सही जाँच करे तो वो तमाम बड़े नाम सामने आएंगे जिसकी राजधानी पुलिस को तलाश है।

क्लब संचालको को मिली अग्रिम जमानत-

क्वींस क्लब में नशीली पार्टी के बाद फायरिंग मामले में क्लब के संचालको को अग्रिम जमानत मिल गई है। क्लब के संचालक नेहा जैन, चंपालाल जैन और मिनाली सिंघानिया पर पुलिस ने महामारी अधिनियम और लॉकडाउन उल्लंघन के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध 28 सितंबर को किया था, जिसके बाद से सभी पुलिस रिकॉर्ड में फरार थे।

मिनाली सिंघानिया सुबोध सिंघानिया की पत्नी है तो चंपालाल जैन और नेहा जैन आपसी रिश्तेदार है। तीनो ही आरोपियों ने गिरफ्तारी से बचने अग्रिम जमानत याचिका लगाया था। जिसका पुलिस ने विरोध नहीं को अग्रिम जमानत मिल गई। इस मामले पर पुलिस ने अब तक कुल 17 आरोपितों की गिरफ्तारी कर चुकी है वही एक आरोपित नमित जैन अभी पुलिस रिकॉर्ड में फरार है। सूत्रों की माने तो नमित जैन संभव पारख और हर्षदीप जुनेजा को कोर्ट में पेश करने के दौरान मौजूद था।

 

नियमो का उल्लंघन करने वाले बत्रा और जैन ने माँगा समय, ना लाइसेंस रद्द हुआ.. ना लीज राशि मिली,,

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!