Exclusive News बड़ी खबर

दवा दुकानों के लाइसेंस में फर्जीवाड़ा, किराये के लाइसेंस पर चल रही दवाई दुकाने.. लाइसेंस दिलाने गिरोह सक्रिय

रायपुर 14 सितंबर 2021.  दवाई दुकानों में लाइसेंस के नाम पर बड़ा फर्जीवाड़ा उजागर हुआ है। राजधानी में संचालित दवाई दुकानो में लाइसेंस नियमो को दरकिनार कर दुकानों का संचालन किया जा रहा है। खाद्य औषधी प्रसाधन के नियमानुसार प्रत्येक दवाई दुकानों में ड्रगिस्ट और केमिस्ट का होना अनिवार्य है पर अधिकतर दुकानों में ऐसा नहीं हो रहा।

किराये पर लाइसेंस..!

दवाई दुकान सञ्चालन के लिए फार्मेसी की डिग्री और फार्मासिस्ट का होना अनिवार्य है पर दुकानों में ऐसा नही हो रहा। अधिकतर दुकान संचालको ने किराये पर फार्मेसी होल्डर का लाइसेंस किराये पर ले रखा है जिसके बदले में लाइसेंस होल्डर को प्रति महीना या सालाना भुगतान किया जाता है। वही लाइसेंस नियमो का उल्लंघन कर न तो बिल दी जाती है, ना हीं बेचीं गई दवाई का हिसाब रखा जा रहा। वही दुकान संचालक थोक दवाई दुकानों का लाइसेंस लेकर रिटेल में कारोबार कर रहे है। ऐसा इसलिए हो रहा ताकि फार्मासिस्ट का खर्चा बचाया जा सके।

लाइसेंस दिलाने एजेंट सक्रीय-

दवा लाइसेंस दिलाने संगठित गिरोह काम कर रहा है जो चंद पैसे लेकर किसी भी नाम से लाइसेंस जारी कर रहे है। जिसमे विभागीय अधिकारियो की संलिप्तता से इंकार नहीं किया जा सकता। गिरोह बड़े पैमाने पर राजधानी, मंदिर हसौद, आरंग, दुर्ग, भिलाई में लाइसेंस जारी कर दवाई दुकानों का संचालन कर रहे है और जानकारी होने के बाद भी अधिकारी कार्यवाही की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे। राजधानी में ही एक व्यक्ति के नाम पर दो दर्जन से अधिक दवाई दुकाने संचालित हो रही है। दवाई दुकानों में लाइसेंस के नाम पर चल रहे फर्जीवाड़े पर खाद्य औषधी नियंत्रक केडी कुंजाम ने कहा कि

“बिना फार्मासिस्ट के दवाई दुकानों का सञ्चालन करना नियमो का उल्लंघन है। समय समय पर अधिकारियो द्वारा जाँच कर कार्यवाही की जाती है, ऐसे में कोई दूकान छूट गया हो तो उससे इंकार भी नहीं कर सकता। शिकायते गंभीर है.. मै जानकारी लेता हु।”

 

करोड़पति आईएएस: करोडो का बंगला, पत्नी और ससुर के नाम खरीदी जमीन और फ्लैट.. महंगे गाड़ियों का शौक,, ईओडब्लू में जाँच जारी

About the author

THEINDIPENDENT.COM

Add Comment

Click here to post a comment

Advertisement

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!