बड़ी खबर विशेष

भाजपा- शून्य से शिखर का सफर, 40 सालो में क्या बदला…जनसंघ से बीजेपी तक का सफर,, पढ़े पूरी स्टोरी

रायपुर-  भारतीय जनता पार्टी आज 40 साल हो गई है। 6 अप्रेल 1980 को इसकी स्थापना हुई थी, इन 40 सालो के सफर में बीजेपी में अभूतपूर्व परिवर्तन हुआ है। दो सीट से लेकर 303 सीटों का सफर बीजेपी इन 40 सालो में तय किया किया। वर्ष 1951 में श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने जनसंघ की शुरुआत की जो आगे चलकर बीजेपी में परिवर्तित हो गई। श्यामाप्रसाद मुखर्जी और दीनदयाल उपाध्याय बीजेपी के पितृ पुरुष माने जाते है।

1980 में बीजेपी की स्थपना के बाद स्व अटल बिहारी वाजपेयी भारतीय जनता पार्टी के पहले अध्यक्ष बने, अटल बिहारी को वाजेपयी को लालकृष्ण आडवाणी साथ मिला। दोनों ने ही पार्टी को मजबूत करने अहम् भूमिका निभाई। पार्टी निर्माण के बाद पहली बार वर्ष 1984 में बीजेपी ने चुनाव लड़ा और दो सीटे मिली। बीजेपी को हिंदुत्व वाली छवि और अयोध्या के राममंदिर ने देश भर पहचान दिलाई। वर्ष 1991 में में लालकृष्ण आडवाणी द्वारा सोमनाथ से अयोध्या तक निकाला ।

रथयात्रा ने देशभर में बीजेपी को पहचान दिलाई और खुलकर हिंदुत्व की बात करने वाली पार्टी बनकर सामने आई। 6 दिसंबर 1992 में बाबरी मस्जिद को बीजेपी नेताओ ने गिरा दिया जिसमे लालकृष्ण आडवाणी, मुरलीमनोहर जोशी और उमा भारती समेत नेताओ का नाम आया। अयोध्या रथ यात्रा और बाबरी मस्जिद गिराने का फायदा बीजेपी को वर्ष 1996 के लोकसभा चुनाव में मिला। लोकसभा में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई। रास्ट्रपति ने सरकार बनाने बीजेपी को आमंत्रित किया। ये सरकार ज्यादा दिन नहीं चली और कुछ दिनों बाद ही गिर गई।

वर्ष 1998 में बीजेपी ने फिर अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर केंद्र में सरकार बनाई और अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री बने। बीजेपी ने फिर 1999 में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन बनाकर लोकसभा चुनाव लड़ा। इस गठबंधन में 20 से दल शामिल हुए, इस गठबंधन को 294 सीटों पर जीत मिली। इसमें बीजेपी को 182 सीटें हासिल हुई जिसके बाद एक बार फिर से अटल बिहारी वाजपेयी प्रधामंत्री बने और इस बार उन्होंने पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा किया।

वर्ष 2002 के बाद से बीजेपी केंद्र की सत्ता से वंचित रही। अटलबिहारी के बाद नरेंद्र मोदी वर्ष 2014 में  दमदार नेता बनकर उभरे और बीजेपी ने 282 सीटे और नरेंद्र मोदी प्रधानमत्री बने। उसके बाद से बीजेपी निरंतर उचाईयो को छू रही है है। बीजेपी के आज 15 से अधिक राज्यों में बीजेपी और उसके सहयोगियो की सरकार है। 1991 के दौर में अटलबिहारी वाजपेयी और लालकृष्णा अडवाणी की जोड़ी थी जो वर्तमान में नरेंद्र मोदी और अमित शाह की है। जिसके नीतियों के दम पर बीजेपी बढ़ते क्रम पर है।

2014 में सरकार में आने के बाद नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने श्यामाप्रसाद मुखर्जी और लालकृष्ण अडवाणी के सपने को पूरा किया। कश्मीर से धारा 370 हटाकर वहां तिरंगा फहराया गया। वही 28 सालो से लंबित राम मंदिर का मुद्दा इनके कार्यकाल में समाप्त हुआ। जिसके बाद अयोध्या में राम मंदिर बनाने की तैयारी शुरू हो गई है। दुनिया भर में 10 करोड़ कार्यकर्ताओ वाली बीजेपी विश्व में सबसे बड़ी पार्टी बन गई है। वर्ष 2014 में आई बीजेपी और वर्ष 2019 में बानी बीजेपी की सरकार में बहुत परिवर्तन हुआ है। पुराने समय के तमाम बड़े नेता दरकिनार कर नए लोगो को पार्टी में शामिल किया गया है।

-Ad-

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

Follow Me

-Ad-

error: Content is protected !!