बड़ी खबर राजनीति

गायों की मौत अधिकारियो की लापरवाही से, गोबर खरीदने ग्रामीणों पर बनाया गया दबाव.. जनता कांग्रेस का बड़ा आरोप

रायपुर–  तखतपुर विकासखंड के ग्राम पंचायत मेडपुर में हुए 50 से अधिक गायो की मौत प्रशासनिक लापरवाही और सरकारी दबाव में हुई है। जनता कॉन्ग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने राज्य सरकार पर आरोप लगते हुए कहा कि

गोबर खरीदी करने के दबाव में अधिकारियो ने ग्रामीणों पर दबाव बनाया जिससे एक ही कमरे में 120 से अधिक गायो को बंद कर रखा गया, जिससे उनकी मौत हुई।”

गायों की मौत के बाद अमित जोगी ने बिलासपुर ग्रामीण जिलाध्यक्ष ज्वाला प्रसाद धृतलहरे, विक्रांत तिवारी, फूलचंद लहरे, सुब्रत जाना विनोद धृतलाहरे और सुनील वर्मा को घटना स्थल भेजा। जिन्होंने जांच रिपोर्ट में बताया कि

अधिकारियो ने गोबर खरीदी के लिए 120 से अधिक गायो को ऊपर नीचे बने दो कमरों में ठूसकर भरा गया था। कमरों में गोबर की मोटी परते जमी हुई थी, अधिकारियो के दबाव में ग्रामीणों ने दो दिन पहले ही रोका छेका किया था ताकि ज्यादा से ज्यादा गोबर खरीदी हो सके।

पालतू और गर्भवती गाये

जांच समिति के अनुसार मृत गायों में अधिकतर पालतू गाय थी कुछ गर्भवती थी। गायों के मरने से उनके गर्भ में पल रहा विकसित गौ वंश भी समाप्त हो गया।

कुत्ते नोचते रहे हाड़ मांस

अमित जोगी ने कहा कि 50 अधिक गायो की मौत के बाद जिला प्रशासन अमला मामले को छुपाने में जुट गया और आनन फानन में 50 गायो का पोस्टमार्टम कर एक ही गड्ढे में एक दूसरे के ऊपर सभी गायो को पाट दिया गया। पोस्टमार्टम के बाद गौ वंशो के हाड़ मांस को कुत्ते नोचते रहे। पशु चिकित्सा विभाग ने उसे सही तरीके से दफन नहीं किया।

 

50 गौवंशो की मौत, 20 घायल.. सीएम भूपेश हुए नाराज,, कलेक्टर से माँगा रिपोर्ट

 

-Ad-

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

Follow Me

-Ad-

error: Content is protected !!