Exclusive News बड़ी खबर

सामुहिक विवाह समारोह मे फर्जीवाडा पर संचालक ने दिये जांच के आदेश,, उधर सीएम सचिवालय ने मांगी रिपोर्ट

रायपुर, 19 अक्टुबर–  मुख्यमंत्री निर्धन कन्या विवाह समारोह मे सामाग्री क्रय मे फर्जीवाडा उजागर होने के बाद संचालक ने जांच का आदेश दिया है। राजधानी मे 25 फरवरी 2020 को सामुहिक विवाह समारोह मे 547 जोडो का विवाह संपन्न हुआ था। समारोह मे सामाग्री क्रय मे अनियमितता की गई है। डीपीओ रायपुर ने बिना वेरिफिकेशन किये फर्जी कंपनीयो को करोडो का भुगतान कर दिया है। जिसकी शिकायत मुख्यमंत्री सचिवालय और संचालक महिला बाल विकास तक पहुची थी जिस पर संचालक दिव्या उमेश मिश्रा ने जांच के निर्देश दिया है।

EXPOSE- सामूहिक विवाह में फर्जीवाड़ा, एक बिल पर दोहरा भुगतान,, फर्जी बिलो पर डीपीएम ने किया करोडो का भुगतान!

फर्जीवाडा देख अधिकारी हैरान

सामाग्री क्रय मे कंपनियो द्वारा लगाये बिल, वाउचर और डीपीओ द्वारा किये भुगतान को देखकर विभाग के अधिकारी भी हैरान है। अधिकारीयो ने कहा कि दुरस्थ जंगली क्षेत्रो मे ऐसा होता तो समझा भी जा सकता था पर राजधानी मे ऐसी अनियमितता अक्षम्य है। प्रारंभिक रूप से अधिकारियो कंपनी को फर्जी पाया है, वही जांच मे और भी बडे खुलासे की उम्मीद है। महिला बाल विकास संचालक दिव्या उमेश मिश्रा ने बताया कि

‘‘सामुहिक विवाह समारोह मे सामाग्री क्रय मे फर्जीवाडा की शिकायत मिली थी जिसके जांच के आदेश दिये है। जांच रिपोर्ट के बाद कार्यवाही की जायेगी।’’

 

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!