Exclusive News बड़ी खबर

EXCLUSIVE- मंत्री भगत के पीए ने सरकारी जमीन हथियाया, बीजेपी नेताओ ने राज्यपाल से शिकायत…

www.Theindipendent.com

रायपुर (2 मार्च 2021)   कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत के बेटे आशीष भगत के जमीन फर्जीवाड़ा के बाद उनके निज सहायक राजेश वर्मा का जमीन फर्जीवाड़ा सामने आया है। जिसकी शिकायत राज्यपाल अनुसुइया उइके से कलेक्टर के माध्यम से की गई है।

EXCLUSIVE मंत्री भगत के बेटे ने दलालो के माध्यम से खरीदी जमीन, चेक से किया भुगतान… आशीष की बढ़ सकती है मुश्किले

शिकायत के अनुसार मंत्री भगत के निज सहायक राजेश वर्मा ने दस्तावेजों में कूटरचना कर सरकारी जमीन हथियाने क आरोप है। सीतापुर क्षेत्र के बीजेपी नेता खलगो ने राज्यपाल के नाम किये शिकायत में कहा कि

“खाद्य मंत्री के पीए राजेश वर्मा ने कूटरचित दस्तावेजों के सहारे आमगांव तहसील मैनपाट जिला सरगुजा के खसरा क्रमांक 63/14/ड 63/26 रकबा 1.214 हेक्टेयर की जमीन जो वर्ष 2005 तक छोटे झाड़ का जंगल था जिसे दस्तावेजों में छेड़छाड़ कर निजी भूमि बताकर रजिस्ट्री की है।”

बीजेपी नेता ने कहा कि मंत्री के प्रभाव का उपयोग कर राजेश वर्मा ने बिना पटवारी नक़ल और चौहद्दी के उक्त जमीन का रजिस्ट्री करा लिया। वही पटवारी ने सरकारी जमीन का नक़ल देने से मना करने पर उसका ट्रांसफर मैनपाट ब्लॉक से एक गांव में कर दिया गया।

बड़ी खबर- कलेक्टर से भगत को नहीं मिली क्लीनचिट, सोशल मीडिया में प्रचारित खबरों को कलेक्टर ने बताया झूठा… गड़बड़ी में घिरे पिता-पुत्र

नियमो को दिखाया ठेंगा-

मंत्री भगत के निज सहायक राजेश वर्मा पिता पीएल वर्मा ने जमीन खरीदी के दौरान के सारे नियमो को दरकिनार जमीन रजिस्ट्री कराया। पटवारी राजस्व निरीक्षक द्वारा नक़ल, संशोधन करने से मना करने पर या तो उसका ट्रांसफर कर दिया या आवाज उठाने सम्बंधित के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दिया गया। जानकारी अनुसार पांचवी अनुसूची और पेशा एक्ट प्रभावित गाँवों में जमीन खरीदी बिक्री पर अनुविभागीय अधिकारी से विशेष अनुमति लेनी होती है पर इसमें पहले रजिस्ट्री की गई फिर बाद में अनुमति मांगी गई। खबरों के अनुसार राजेश वर्र्मा का अनुमति संबंधी आवेदन अभी पेंडिंग है।

शिकायत पर निज सहायक राजेश वर्मा ने theindipendent.com से कहा कि

“राजनितिक विरोधियो द्वारा उन्हें बदनाम करने शिकायत की है, जिसकी जाँच करने मै तैयार हु। इससे पहले दो और लोग इस जमींन को खरीद चुके थे, नियमो के तहत ही रजिस्ट्री हुई है।”

 

सिविल जज आशीष भगत पर धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार का आरोप, हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस से शिकायत…

 

 

 

About the author

THEINDIPENDENT.COM

Add Comment

Click here to post a comment

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!