बड़ी खबर विशेष

EXCLUSIVE गुटखा कारोबारी जैन की कहानी… तम्बाकू से मीडिया और क्वींस क्लब का सफर, कवि मुशायरा से सत्ता के नजदीकी तक

राहुल गोस्वामी
रायपुर, 22 अक्टूबर-   क्वींस क्लब में नशीली पार्टी के बाद फायरिंग मामले में रसूखदारों का दोहरा चेहरा सामने आया था। पुलिस ने क्लब संचालको सहित कुल 19 लोगो पर एफआईआर किया था। इस घटना में क्लब संचालक हर्षित सिंघानिया, मिनाली सिंघानिया, नमित जैन, नेहा जैन और चम्पालाल जैन पर पुलिस ने अपराध पंजीबद्ध किया। इस मामले में 19 आरोपित गिरफ्तार हुए और नमित जैन पुलिस रिकॉर्ड में फरार है।

इस पुरे घटनाक्रम में सबसे चर्चित नाम नमित जैन का रहा जिसके बारे में “द इंडिपेंडेंट” टीम ने पड़ताल की तो रसूख और मीडिया पावर का कॉकटेल सामने आया, जिसकी चकाचौंध ने प्रशासन को हाइपरोपिया से ग्रसित कर दिया है।

 

 

द इंडिपेंडेंट के पास मौजूद दस्तावेज, वीडियो और ऑडियो रिकॉर्ड के अनुसार नमित जैन का परिवार मूलतः उड़ीसा के कालाहांडी, केशिंगा का निवासी है जो 35 से 40 साल पहले रायपुर आया और तम्बाकू के कारोबार शुरुआत किया। तम्बाकू में राजा छाप खैनी की शुरुआत पिता चम्पालाल जैन के ट्रेडमार्क फोटो के साथ हुई।

जैन परिवार ने कई कंपनी बनाकर कारोबार को बढ़ाया और ओडिसा सहित अन्य राज्यों में माल भेजने लगा। साल 2011 से 2016 के बीच में पांच कंपनिया अनन्या ट्रेडिंग कंपनी, आशी एजेंसी, अनंत एजेंसी, अरिहंत एजेंसी और अर्णव इंटरप्राइज़ेश नामक पांच कंपनी बनाकर तम्बाकू और प्रोडक्ट आपूर्ति करता रहा।

 

 

बढ़ते राजस्व, कम टैक्स और नुकसान में बंद होती कंपनियों से सेल्स टैक्स ने छापा मारा तो करोडो का टैक्स चोरी सामने आया। मामले में चम्पालाल जैन जेल जाने से बचे तो मामले को जैसे तैसे सुलझाया। उस दौरान नमित को मीडिया पावर का अहसास हुआ तो 2 जनवरी 2017 को फोर कार्नर मल्टीमीडिया लिमिटेड नामक कंपनी बनाकर मीडिया हाउस प्रारम्भ किया। भोपाल के त्रिपाठी से स्वराज एक्सप्रेस एसएमबीसी का छत्तीसगढ़ फ्रेंचाजी लिया और लल्लूराम  मीडिया चैनल शुरू किया। जैन ने मीडिया की शुरुआत तम्बाकू कंपनी के उलझनों को ढकने के लिए किया।

जैन ने तम्बाकू प्रोडक्ट में रजनीगंधा का प्रदेश स्तर का काम लिया पर लापरवाही के चलते काम हाथ से छूटा तो करोडो का नुकसान कंधे पर आ गिरा। जैन परिवार में नमित जैन, अमित जैन, नमित की भाभी नेहा जैन और पिता चंपालाल कारोबार में है। चम्पालाल और नेहा जैन दर्जन कंपनियों के संचालक है जिसमे फोरकार्नर मल्टीमीडिया प्राइवेट लिमिटेड, आल राउंड इंटरप्राइज़ेश, फोरकार्नर इस्पात प्राइवेट लिमिटेड, एमिनेंट इंफ्रास्ट्रचर प्राइवेट लिमिटेड,अनंतनाथ सेल्स, अणुव्रत प्रोडक्ट एंड कंपनी है। इन कंपनियों में नमित और उसकी पत्नी भानु सीधे तौर पर शामिल नहीं है, इसके पीछे की वजह कुछ और है।

 

पार्टी, महंगे गाड़ी और राजनीति-

नमित जैन ने व्यापार को बढ़ाने राजनीतिज्ञो का सहारा लिया जिसमे उसका स्कूल फ्रेंड अरशद ने बखूभी साथ दिया। सत्ता परिवर्तन के बाद नमित ने सरकार के करीब जाने इंडोर स्टेडियम में कवि सम्मलेन, पुलिस लाइन में सम्मान समारोह और आरंग में गोठान उद्घाटन सहित बड़े कार्यक्रम कराये। जिससे नमित का नाम और कारोबार दोनों बढ़ा। पार्टी के शौकीन नमित ने विवादित क्वींस क्लब को अपने पापा चम्पालाल और भाभी के नाम पर पार्टनरशिप में करोडो में सबलीज पर लिया और लॉकडाउन का पूरा फायदा उठाया पर हवाई फायर ने सारी चालाकी निकाल दी।

इन सब मामलों से दूर बेहद शांत और सुलझे राजनीतिज्ञ अरशद के पिता तक बात पहुंची तो नाराजगी जाहिर करते हुए अरशद को भी नसीहत दी।

हुंडी, जुआ का धंधा!

द इंडिपेंडेंट टीम को नमित के करीबी दोस्तों और परिचितों ने बताया की गुटखा के अलावा हुंडी का काम है जिसके लिए उसने कपिल और जुनैद नामक दो विश्वासपात्र को रखा है जो लेन देन का पूरा काम देखते है। ड्रग मामले में गिरफ्तार संभव पारख नमित का बेहद करीबी था जो उसके क्लब, लॉउंज और अन्य का हिसाब किताब देखता था।

नमित जैन महंगी गाड़ी कपडे और पार्टी पसंद है। वही उसके पिता चम्पालाल जैन और भाई अमित जैन का विरोधी विचारधारा के है जो दिखावे से दूर रहकर कारोबार को तवज्जो देते है। नमित के बेहद करीबियों के अनुसार सफाई पसंद अमित और सादगी पूर्वक रहने वाले परिवार के सदस्य मीडिया, क्लब और दिखावे से परहेज करते है। जिससे कुछ समय से आपस में मनभेद है। उसके दोस्तों की माने तो नमित जैन को उसके बाह्य आडम्बर ने उसकी मुसीबत खड़ी की है।

 

 

 

 

रसूखदारों की गिरफ्तारी से मचा हड़कंप, मोबाइल से खुलेगा राज! उधर क्लब संचालको को मिली अग्रिम जमानत

 

 

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!