Exclusive News बड़ी खबर

पैसे दो, डिग्री लो: सीवी रमन यूनिवर्सिटी में चल रहा गोरखधंधा, मोटी रकम लेकर बाँट रहे डिग्री..! सोमवार को कोर्ट में सुनवाई

बिलासपुर 19 सितंबर 2021.  सीवी रमन यूनिवर्सिटी पर यूजीसी के बिना अनुमति विभिन्न पाठ्यक्रम संचालित करने और गलत तरीके से डिग्री बांटने के आरोप में दायर जनहित याचिका में सोमवार को सुनवाई होगी। शिक्षिकीय पेशे से जुडी आरती सिंह ने सीवी रमन यूनिवर्सिटी के खिलाफ न्यायालय में याचिका दाखिल किया था। सीवी रमन यूनिवर्सिटी यूजीसी के बिना अनुमति के देश भर में विभिन्न पाठ्यक्रम संचालित कर रही है। यूनिवर्सिटी के द्वारा संचालित आईसेक्ट संस्थान में छात्रों को कम्प्यूटर संबंधित डिप्लोमा प्रदान किया जाता है, जिसमे बड़े पैमाने पर धांधली होती है।मोटी रकम लेकर अच्छे नंबरो से उत्तीर्ण होने का सर्टिफिकेट दिया जाता है।

पत्रकारिता विश्वविद्यालय की दरकने लगी दीवार, कार्यवाही से बचने पीछा छुड़ाने में जुटे कर्मी!

ऐसे ही शिकायत पर साल 2018 में सीवी रमन यूनिवर्सिटी के तत्कालीन कुलपति संतोष चौबे, रजिस्ट्रार गौरव शुक्ला और उपरजिस्ट्रार नीरज कश्यप के अलावा पूर्व रजिस्ट्रार शैलेश पांडे के खिलाफ स्थानीय कोटा थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया था। सभी आरोपियों पर अपराध क्रमांक 247/18 में प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट की धारा 13 (1) , (डी), 13 (2) के तहत भी अपराध पंजीबद्.पंजीबद्ध किया गया था।

कोर्ट ने लगाया फटकार-

फर्जी डिग्री बांटने को लेकर दायर जनहित याचिका में कोर्ट ने यूनिवर्सिटी प्रबंधन को जमकर फटकार लगाया था। सुनवाई के बाद कोर्ट ने सीवी रमन यूनिवर्सिटी प्रबंधन सहित 11 अन्य प्रतिवादियों को चार सप्ताह भीतर जवाब प्रस्तुत करने का आदेश दिया था। साथ ही चार सप्ताह के भीतर जवाब प्रस्तुत ना करने पर सभी 11 प्रतिवादियों को वादी को 1-1 लाख रुपये देने का आदेश दिया था।

 

अय्याशी के बाद धोखाधड़ी: सीवी रमन यूनिवर्सिटी प्रबंधन पर धोखाधड़ी का आरोप, पुलिस में शिकायत

About the author

THEINDIPENDENT.COM

Add Comment

Click here to post a comment

Advertisement

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!