बड़ी खबर विशेष

कोरोना विशेष- लोगो की नासमझी पड़ रही भारी, बढ़ सकता है लॉकडाउन…क्योकि महामारी फर्क नहीं जानती

रायपुर- कोरोना वायरस के संक्रमण ने भागते दौड़ते जिंदगी पर लगाम लगा दिया है। छत्तीसगढ़ ही नहीं पुरे भारत में गंभीर संकट हाथ पसारे खड़ा है। भारत के इतिहास में पहली बार रेल रोकी गई है, वरन युद्ध काल में भी रेल कभी नहीं रोकी गई। विमान सेवा, बस यातायात सब ठप्प है, जो जहा है वही ठहरा है। कोरोना संक्रमण उतना आसान नहीं है जितना लोग समझ रहे है, ये एक महामारी है जो एक साथ हजारो लोगो की जान के सकता है।

ऐसी महामारी से करोडो लोग एक साथ समाप्त हो सकते है। आज हीरो बनने की नहीं सावधानी बरतने की जरुरत है। देश के प्रधानमंत्री को एक सप्ताह के भीतर दो बार संबोधित करना पड़ा इससे इसकी विभीषिका अंदाजा लगे जा सकते है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में दो बार लोगो से हाथ जोड़कर अपील की “अपनों के लिए अपने घरो में रहे”। मोदी ने चेतवानी भी दी की आज नहीं संभले तो देश 21 साल पीछे चला जायेगा। उसके बाद भी कुछ लोगो को छोड़कर बाकि में कोई चिंता फिक्र नहीं दिखाई देती।

लोग बेपरवाह विदेशी दौरे से अन्य राज्यों से घर लौट रहे पर उसकी जानकारी पुलिस को नहीं दे रहे है। ऐसे लोग अपने साथ साथ पुरे देशवासियो के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे है। राज्य की सरकारे, पुलिस, प्रशासनिक अमला और चिकित्साकर्मी दिन रात जुटे है, ताकि ये खतरा टल जाये पर लोगो की लापरवाही सें खतरा टलने की बजाये बढ़ रहा है। वायरस जिस तेजी से बढ़ रहा उससे आने वाले दिन और तकलीफ देय होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगो से 21 दिनों तक लॉकडाउन करने कहा, “कम्प्लीट लॉकडाउन”। उसके बाद दुकाने, सब्जी बाजारे और अन्य दुकानों में उमड़ी भीड़ इस बात का संकेत है की उन्हें अपनों से, देश से प्यार नहीं है। अगर समय रहते लोग नहीं सम्भले तो लॉकडाउन बढ़ाना तय है।

-Ad-

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

Follow Me

-Ad-

error: Content is protected !!