बड़ी खबर राजनीति

चुनाव प्रक्रिया से बाहर हुए जोगी, अब क्या होगी पार्टी की रणनीति? रेणु जोगी ने कहा ”चल रही बैठक”

रायपुर, 17 अक्टूबर-  मरवाही उपचुनाव में अमीत जोगी और ऋचा जोगी की जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने के साथ दोनों का नामांकन भी रद्द हो गया है। इसके साथ दोनों ही चुनाव प्रक्रिया से बाहर हो गए है। नामांकन निरस्त होने के बाद अमीत ने सरकार पर आरोप लगाया कि “सरकार के निर्देश पर कार्यवाही की गई है।”

अमीत सहित पुरे जनता कांग्रेस को को अंदेशा था की आखरी समय में उनका जाति प्रमाण पत्र निरस्त हो सकता है और वे चुनावी प्रक्रिया से बाहर हो जायेंगे। जिसके चलते जोगी के अधिवक्ताओ ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त को पत्र लिखकर जिला निर्वाचन अधिकारी को निर्देशित करने कहा था। जोगी ने इसी संभावनाओं के चलते हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर किया जिसमे अभी सुनवाई होना बाकी है। जोगी के नामांकन और जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने के बाद यक्ष प्रश्न है कि अब जोगी क्या करेंगे? किस पार्टी को समर्थन देंगे?

नामांकन निरस्त होने के बाद अमीत जोगी ने कहा कि पुरे चुनाव प्रक्रिया को रद्द कराने की बात करते हुए कोर्ट जाने की बात कही है, पर ये आसान नहीं है। मरवाही जोगी परिवार का गढ़ रहा है, अजीत जोगी और अमीत जोगी दोनों ही वहा से विधायक रह चुके है। जोगी परिवार के चुनावी प्रक्रिया से बाहर होने के बाद उनके अगले फैसले पर सबकी निगाहे है। मरवाही में 16 अक्टूबर तक कुल बीजेपी कांग्रेस सहित कुल 19 अभ्यर्थियों ने नामांकन दाखिल किया है। वही जनता कांग्रेस से पुष्पेश्वरी तंवर और मूलचंद सिंह ने भी नामांकन दाखिल किया है। चर्चाओं के अनुसार दोनों में से किसी एक को समर्थन दे सकते है।
जनता कांग्रेस की आगे की रणनीति जानने रेणु जोगी से बात किया तो श्रीमती जोगी ने thaindipendent.com से कहा कि

“जिला निर्वाचन अधिकारी के फैसले के बाद आगे की रणनीति के लिए अभी पार्टी की बैठक चल रही है, जल्द ही हम फैसला लेंगे।”

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!