Exclusive News बड़ी खबर

किस्मत के धनी डीएफओ, कांग्रेस नेता की शिकायत के बाद भी नही हुई जांच,, विभाग ने कहा ‘‘ना कोई शिकायत नही कोई जांच’’

www.Theindipendent.com

रायपुर 27 सितंबर– प्रशासनिक अधिकारियो मे सभी किस्मत के धनी नही होते। कोई बिना कुछ किये सरकार की नजर मे चढ जाते है तो कोई सब कुछ करने के बाद
भी पाप के भागी नही बनते। ऐसे ही आईएफएस अधिकारी है राजेश चंदेले जिनकी शिकायतो की फेहरिस्त बडी लंबी है पर मजाल है कि इन पर कोई कार्यवाही हो
सके।

पुर्व की बीजेपी सरकार मे सुकमा डीएफओ रहते सरकारी बंगले मे स्वीमिंग पुल बनवाकर रातो रातो नेशनल मीडिया मे सुर्खियां बटोरने वाले राजेश चंदेले किस्मत के धनी है। एसीबी की छापेमारी मे उनके घर से करोडो नगदी के साथ विदेशी मुद्रा मिला पर किस्मत ने वहा भी चंदेले का साथ दिया। करोडो की अनुपातहीन संपत्ति मिलने के बाद भी एसीबी ने चालान पुटअप नही किया और चंदेले जेल जाने से बच गये। चंदेले पर सुकमा मे सरकारी पैसो से स्वीमिंग
पुल बनाने की शिकायत हुई पर किस्मत वहां भी चंदेले के साथ थी। शिकायत पर सरकार कोई कार्यवाही ना कर सकी, जांच अधिकारी ने डीएफओ को क्लीनचीट दे
दिया।

वही वर्तमान सरकार भी मुकदर्शक है जो कांग्रेसी नेता की शिकायत पर कार्यवाही नही कर पा रही है। कांग्रेस नेता ने फरवरी 2020 को वन मंत्री मोहम्मद अकबर को शिकायत को पुलिंदा सौपकर दोबारा जांच की मांग किया, जिस पर मंत्री ने पीसीसीएफ राकेश चतुर्वेदी को जांच का जिम्मा सौपा था। डीएफओ राजेश चंदेले का किस्मत एक बार फिर साथ दिया और शिकायत के पांच महिनो बाद
भी ना जांच हुई ना कार्यवाही। जानकारी लेने पर विभागीय अफसरो ने जो ब्यौरा दिया वह अचंभित करने वाला है। अधिकारीयो ने बताया कि

‘‘ऐसी कोई शिकायत ही नही है तो जांच कहा से होगी।’’

अब सवाल उठता है कि कांग्रेस सरकार मे कांग्रेस नेता को न्याय नही मिल रहा तो आम आदमी को कैसे न्याय सुलभ होगा। वहीं मंत्री के आदेश के बाद भी उस शिकायत को कहीं डस्टबिन में नहीं फेक दिया गया..?

 

पुलिस को एसआई की जाँच रिपोर्ट में भरोसा नहीं, दोबारा होगी जाँच…बीजेपी नेता के रसूख के आगे पुलिस बेबस

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!