छत्तीसगढ़ बड़ी खबर

दाम लेकर काम देने वाले अफसर पर अधिकारी मेहरबान, राजनितिक पहुंच बड़ी वजह.. राज्यपाल के आश्वासन के बाद भी कार्यवाही सिफर!

रायपुर, 21 अक्टूबर-  राज्य हाथकरघा संघ के सचिव को हटाने धरने में बैठी समूह की महिलाओ ने राज्यपाल से मिले आश्वासन के बाद भूख हड़ताल ख़त्म कर दिया है। प्रदेशभर से राजधानी के धरना स्थल पहुंची महिलाओ ने तीन दिनों तक भूख हड़ताल किया उसके बाद भी शासन प्रशासन नहीं लिया तो राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके ने उन्हें कार्यवाही का आश्वासन देकर धरना ख़त्म करने कहा जिसके बाद महिलाओ ने भूख हड़ताल समाप्त किया।

महिलाओ की मांग की थी कि हाथकरघा संघ के सचिव बीपी मनहर को हटाया जाये। प्रदेश हाथकरघा संघ के अध्यक्ष शोभा ठाकुर, शीतला ठाकुर ने कहा कि

सचिव दाम लेकर काम देते है, दाम देने वाले समूहों को थोक में गणवेश सिलाई का ऑर्डर दिया जाता है। भ्रस्टाचार को बढ़ावा देने वाले सचिव मनहर को हटाया जाये।”

भूख हड़ताल के पूर्व महिलाओ ने सीएम भूपेश बघेल, विभागीय मंत्री रूद्र गुरु को संघ में चल रही गतिविधियो से अवगत कराया था पर नतीजा सिफर रहा। जिसके बाद महिलाओ ने भूख हड़ताल पर बैठी। मनहर पर भ्रष्टाचार का संगीन आरोप होने के बाद भी विभागीय अधिकारियो ने कार्यवाही से हाथ खींचा।

इसके पीछे मनहर की तगड़ी राजनितिक पहुंच को बताया जा रहा है। जानकारी अनुसार बीपी मनहर ग्रामोद्योग विभाग के कर्मचारी है जिन्हे तीन साल पूर्व डेपुटेशन पर हाथकरघा संघ में लाया गया था। डेपुटेशन के तीन साल पुरे होने के बाद भी विभाग ने उनकी खोजखबर नहीं ली है। खबरों के अनुसार मनहर सारंगढ़ के पूर्व विधायक पद्मा मनहर परिवार के करीबी है जिसके चलते विभागीय मंत्री से निकटता भी है।

मनहर ने विभाग में आमूल चूक परिवर्तन किया, गड़बड़ी की शिकायतों के बाद रेडीमेट प्रभारी रहे व्यक्ति को ट्रांसफर कर चलता कर दिया। वहा अजय हटवाल नामक व्यक्ति को स्थापित किया जो समूहों और अधिकारियो के बीच मध्यस्थता करता था। अजय हटवाल विभाग का कर्मचारी नहीं होते हुए भी बेहद पावरफुल माना जाता है जो समूहों को सिलाई और उन्हें गणवेश की संख्या तय करता है।

ऐसे में विभाग प्रमुख को राज्यपाल के आश्वासन का ध्यान रखते हुए सज्ञान लेना चाहिए ताकि विभाग और सरकार की छवि धूमिल ना हो और राजभवन की गरिमा बनी रहे।

 

अधिकारी के खिलाफ महिलाओ ने खोला मोर्चा, भूख हड़ताल पर बैठी महिलाये.. हाथकरघा संघ में भ्रष्टाचार!

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!