छत्तीसगढ़ बड़ी खबर

पुलिस को एसआई की जाँच रिपोर्ट में भरोसा नहीं, दोबारा होगी जाँच…बीजेपी नेता के रसूख के आगे पुलिस बेबस

रायपुर-  बेरोजगारो से नौकरी लगाने के नाम पर लाखो रू. ठगी करने वाले बीजेपी नेता पर कार्यवाही करने पुलिस अभी और जांच करेगी। पुलिस को जांच अधिकारी की रिपोर्ट पर भरोसा नही है।

बीते साल मार्च 2019 मे दर्जन भर बेरोजगारो ने बीजेपी नेता मनीष सोनी के खिलाफ धोखाधडी कर ठगी की शिकायत किया था जिस पर पुलिस विगत डेढ सालो से जांच ही कर रही है। पुलिस को अपराध पंजीबद्व करने अभी और जाँच का इंतजार है, जबकि जांच अधिकारी ने अपनी रिपोर्ट थाना प्रभारी को सबमिट कर दिया है। जिसमे मनीष सोनी पर धारा 420 अंतर्गत अपराध पंजीबद्व करने अनुशंषा किया है।

बीजेपी नेता के चलते एफआईआर मे देरी-

ठगी के शिकार दर्जनभर बेरोजगारो ने बीते मार्च 2019 मे गोल बाजार थाने मे शिकायत कर अपराध पंजीबद्व करने कहा था। जिसमे जांच अधिकारी कमल सिंग सेंगर ने दिनांक 04.06.2019 व 07.11.2019 सहित तीन बार मनीष सोनी को नोटिस भेजकर बयान देने बुलाया पर मनीष थाना नही पहुचा। सुत्रो की माने तो पुलिस बीजेपी नेताओ का वरदहस्त होने के चलते अपराध पंजीबद्व नही कर रही है। पुलिस इतने दिनो के बाद भी एफआईआर करने मे टालमटोल कर रही है। मामले की जांच अधिकारी कमल सेंगर ने कहा कि

‘‘मैने जांचकर रिपोर्ट थाना प्रभारी साहब को एक साल पहले ही दे दिया हूॅ, अब साहब जाने।’’

वही थाना प्रभारी विनित दुबे ने कहा कि

‘‘दोनो को थाना बुलाये है जिसके बाद आगे की कार्यवाही होगी।’’
पुलिस अधिकारीयो के बयान से स्पष्ट है कि मनीष सोनी के रसुख के आगे पुलिस बेबस है।

बीजेपी नेताओ मे हडकंप-

मनीष सोनी का पुर्व सीएम डाॅ रमन सिंह और पुर्व संगठन मंत्री रामप्रताप सिंह सहित बीजेपी और आरएसएस नेताओ से निकट संबंध सार्वजनिक होने के बाद बीजेपी हडकंप मचा हुआ है। मनीष सोनी बीजेपी संगठन के नेताओ का बेहद करीबी है। सोशल मीडिया मे प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय और आरएसएस प्रान्त प्रचारक  के साथ फोटो सामने आया है।

 

वायरल- “जांच अधिकारी ने लिए दो लाख, एसी और एलसीडी, तब नहीं किया एफआईआर” नौकरी लगाने बीजेपी नेता ने ठगे लाखो और पुलिस को भी बांटे !

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!