Exclusive News बड़ी खबर

नियुक्ति में धांधली: जेजे मिशन फिर विवादों में, पात्र उम्मीदवारों की बजाये गैर अनुभवी अभ्यर्थियों की नियुक्ति.. बैक डोर से एंट्री? एजेंसी पर गंभीर आरोप

रायपुर 21 सितंबर 2021.  जल जीवन मिशन अंतर्गत प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से होने वाली नियुक्ति में बड़ी गड़बड़ी उजागर हुई है। कंपनी आवश्यक शैक्षणिक योग्यता और अनुभवी उम्मीदवारों को दरकिनार कर गैर अनुभवी उम्मीदवारों को चयनित कर रही है। जिससे अनुभवी और आवश्यक न्यूनतम अहर्ता को पूरा करने वाले अभ्यर्थियों को बाहर किया जा रहा है।

पीएचई में जल जीवन मिशन अंतर्गत प्रदेश भर में करीब 464 पदों पर नियुक्तियां होनी है जिसका टेंडर प्लेसमेंट एजेंसी कॉल मी सर्विसेस को दिया गया है। जिसमे परियोजना प्रबंधक, परियोजना समन्वयक, एमआईसी, हाइड्रोलॉजिस्ट और डाटा एंट्री ऑपरेटर की नियुक्ति होना है। संविदा में होने वाली नियुक्ति कुल तीन सालो के होगी।

नियमो का उल्लंघन-

प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से भरे जाने वाले पदों के लिए न्यूनतम योग्यता निर्धारित की गई है जिसका एजेंसी पालन नहीं कर रही है। विभागीय जानकारी अनुसार हाइड्रोलॉजिस्ट के लिए शासन से मान्यता प्राप्त से संस्था या विश्वविद्यालय से जियोलॉजी या हाइड्रोजियोलॉजी में स्नातक एवं एनआरएसए से प्रशिक्षित होना अनिवार्य है। साथ ही भू- भौतिकी उपकरण, एक्यूफर, जियोफार्मालॉजी का छत्तीसगढ़ में न्यूनतम 5 अनुभव चाहिए। वही समन्वयक(डब्ल्यूक्यूएस) पद के लिए केमिस्ट में एमएससी और तीन वर्षो के कार्य अनुभव होना आवश्यक है तो आईईसी में एमबीए या मास मीडिया में ग्रेजुशन के साथ तीन सालो का अनुभव होना आवश्यक है। परियोजना सहायक तकनिकी हेतु बीई, बी.टेक के साथ पेयजल कार्यो में पांच वर्षो का अनुभव आवश्यक है। पर एजेंसी गैर अनुभवी अभ्यर्थियों को सीधे नियुक्ति पत्र दे रही है, जिसमे भ्रष्टाचार से इंकार नहीं किया जा सकता।

बिचौलिये के माध्यम से नियुक्ति?

चयन प्रक्रिया भर्ती नियमो का पालन नहीं किया। जानकारी अनुसार एजेंसी ने ना तो परीक्षा आयोजित की ना ही दस्तावेजों के भौतिक सत्यापन किया। अधिकारियो के परिचितों और रिश्तेदारों को सीधे नियुक्ति पत्र जारी किया गया है। वही नियुक्ति कराने बिचौलिये सक्रीय है। अभ्यर्थियों ने आर्थिक लेन- देन का आरोप लगाया है। आरोपों पर एजेंसी कॉल में सर्विसेस के संचालक राज बोथरा ने कहा कि

“नियमो के अनुसार ही भर्ती की गई है, अब सबके दस्तावेज तो नहीं चेक कर सकते.. नियुक्ति हेतु ऊपर से बहुत प्रेशर है, सभी चाहते है की उनके रिश्तेदार नौकरी में हो।”

पैसे दो, डिग्री लो: सीवी रमन यूनिवर्सिटी में चल रहा गोरखधंधा, मोटी रकम लेकर बाँट रहे डिग्री..! सोमवार को कोर्ट में सुनवाई

About the author

THEINDIPENDENT.COM

Add Comment

Click here to post a comment

Advertisement

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!