Exclusive News बड़ी खबर

एसपी ने एफआईआर से नाम हटाने मांगे 5 लाख! विधायक की नाराजगी के बाद पुलिस की कार्यप्रणाली मे नही सुधार… पुलिस की गिरती साख

रायपुर/बिलासपुर, 11 नवंबर 2020-  सत्तासीन पार्टी के विधायक द्वारा सार्वजनिक मंच पर पुलिसपर अवैध वसूली, स्कै्रप कारोबारियो से साठगांठ और रेट लिस्ट लगाने संबंधी मांग के बाद भी पुलिस की कार्यप्रणाली मे सुधार नही हुआ है।

बिलासुपर जिले के साथ पुरे बिलासपुर रेंज मे खुलेआम चल रहे स्कै्रप कारोबार, सटटा, कबाड, और कोल डिपो का संचालन जारी है, जिस पर पुलिस विभाग मेहरबान है। अवैध रूप से संचालित इन कार्यो की जानकारी जिले के आला अफसर, एसपर और आईजी स्तर के अफसरो को है, उसके बाद भी अफसर मौन साधे हुये है। जिसकी चर्चा बिलासपुर से बाहर प्रदेश भर मे हो रही है।

विधायक का गुस्सा जायज-

कांग्रेस विधायक शैलेष पाण्डेय का पुलिस को लेकर नाराजगी के अपने कारण है। पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने साल 2019 मे बिलासपुर कप्तान का कमान संभालने के बाद जुलाई 2019 मे स्कै्रप कारोबारियो पर ताबडतोड छापेमारी करते हुये सैकडो क्विंटल अवैध कबाड जब्त किया था। जिससे कबाडियो मे हडकंप मचा हुआ था। उसके बाद से अब तक वैसी कार्यवाही नही हुई है।

पुलिस की गिरती साख-

बीते कुछ समय मे बिलासपुर पुलिस की साख तेजी से गिरी है। पुलिस पर आम आदमी के साथ सत्ता पक्ष के विधायक अवैध वसूली के आरोप लगा रहे है। पुलिस विभाग के मुखिया विभाग की छवि धुमिल होने से बचाये रखने लगातार अनेक योजनाओ के माध्यम से प्रयासरत है पर उनके मातहत ही विभाग की छवि धुमिल करने मे लगे है।ऐसे मे विभाग प्रमुख को ध्यान देने की जरूरत है। वही पुलिस मुख्यालय मे 11 महिने का एकांतवास बीताकर मुख्यधारा में लौटे सीनियर आईपीएस से मातहतो को अनुभव का लाभ लेना चाहिये जो केवल धनार्जन का सोचते है। विपरीत समय मे ना तो तिवारी काम आता है ना ही अग्रवाल।

पुलिस गरिमा का ध्यान रखे-

पुलिस कर लगातार गिरती साख को लेकर जनप्रतिनिधियो ने गरिमा का ध्यान रखने की नसीहत दी है। बिलासपुर से बीजेपी संासद अरूण साव ने कहा कि

‘पुलिस को अपनी छवि का ध्यान रखते हुये काम करना चाहिये। पुलिस पर अवैध उगाही, कबाडियो से साठगाठ और लेनदेन की शिकायत से आम जनता मे गलत मैसेज जाता है, जिससे पुलिस को बचना चाहिये।’’

वही बिलासपुर विधायक डाॅ शैलेष पाण्डेय ने कहा कि

‘‘पुलिस आम जनता की सुरक्षा के लिये है, अगर उनसे ही वसुली करने लगे तो अपराधियो मे डर खत्म हो जायेगा।पुलिस को आम लोगो के साथ तालमेल बिठाना चाहिरूे ताकि लोगो का भरोसा पुलिस पर हो सके।’’

बिलासपुर पुलिस की कार्यप्रणाली पर लगातार उठते सवालो पर पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने द इंडिपेंडेंट न्यूज से कहा कि

‘‘शिकायते मिली है, जानकारी लेता हूॅ।’’

 

 

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!