Exclusive News बड़ी खबर

उपसंचालक की शिकायत झूठी और निराधार, पत्रकार को एससी एसटी एक्ट में फ़साने की साजिश नाकाम,,,

रायपुर-
संस्कृति विभाग में जारी अनियमितता और गड़बड़ी को लेकर खबरे प्रकाशित होने से बौखलाए उपसंचालक ने पत्रकार के खिलाफ एसी एसटी थाने में शिकायत कर फ़साने की कोशिश की। पुलिस को जाँच में शिकायत झूठी और निराधार मिली।
महंत घासीदास संग्रहालय में रखे मूर्तियों के जानकारी नहीं मिलने,खनन से निकले बेशकीमती पुराने सिक्को के गायब होने की खबरे पत्रकार राहुल गोस्वामी ने प्रकाशित किया था। खबरों के प्रकाशन से बौखलाकर विभाग में पदस्थ उपसंचालक जगदेव राम भगत ने अनुसूचित जाति जनजाति थाने में पत्रकार के खिलाफ की शिकायत कर दिया था, जिसे पुलिस शिकायत को झूठा और निराधार पाया। पुलिस ने अपने रिपोर्ट में लिखा है कि
” उपसंचालक ने खबरों के प्रकाशन क्षुब्ध होकर जातिगत फायदा उठाने के उद्देश्य से पत्रकार को फ़साने शिकायत की जो पूर्णतः झूठी और निराधार है।”
क्या है मामला- संस्कृति विभाग के खनन से निकले बहुमूल्य सिक्के और कीमती वस्तुओ का संग्रहालय प्रबंधन के पास कोई जानकारी नहीं है। खनन से निकले सिक्के और कहा गायब हुई ये जाँच का विषय है। वही पचराही में संगोष्ठी के  दौरान 17 लाख रुपये की गड़बड़ी हुई थी जिसे तत्कालीन संग्रहाध्यक्ष ने अपने खाते में जमा कर दिया था। उस दौरान संग्रहाध्यक्ष जगदेव राम भगत थे। वही महंत घासीदास संग्रहालय का बीते 15 वर्षो से सत्यापन नहीं हुआ है जबकि पुरातात्विक नियमो के अनुसार प्रत्येक वर्ष संग्रहालय का सत्यापन होना अनिवार्य है। इन्ही गड़बड़ियों को पत्रकार राहुल गोस्वामी ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिससे बौखलाकर उपसंचालक भगत ने जातिगत फायदा उठाने और पत्रकार को एसी एसटी के तहत फ़साने के उद्देश्य से की गई साजिश नाकाम हो गया।

-Ad-

Follow Me

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

-Ad-

error: Content is protected !!