बड़ी खबर विशेष

पुलिस ने की गांधीगिरी तो सडको पर निकलने लगे लोग, बेवजह घूमने वालो की संख्या बढ़ी,, लॉकडाउन का पालन करने सख्ती जरुरी

रायपुर-  कोरोना संक्रमण के विभीषका में पुलिस के जवान सख्ती से मैदान पर डटे है। कोरोना मरीजों को लाने ले जाने, शहर में लॉक डाउन का पालन करवाने के साथ दिन रात मुस्तैदी के साथ पुलिस के जवान लगे हुए है। पुलिस ने लगातार कार्यवाही कर रही है पर बीते दो तीन दिनों से सख्ती में ढील देने से लोगो का हुजूम बेवजह सडको पर नजर आने लगा है। लोग बेधड़क फर्राटा भरते हुए निकल रहे है, इससे लॉक डाउन का उल्लंघन हो रहा है।

लॉक डाउन के शुरूआती दिनों में पुलिस ने बेवजह घूमते, धारा 144 का उल्लंघन करने वालो पर तबाड़तोड़ कार्यवाही की। दो दिनों में ही राजधानी समेत प्रदेश भर में 500 से ज्यादा गाड़ियों को थानों में खड़ी कराइ गई। आश्यकतानुसार पुलिस ने बलप्रयोग किया जिसके चलते सड़को में बेवजह घूमते लोगो किसा संख्या में कमी आई थी जो तीन दिनों से पुनः पुराने ढर्रे पर आ गई है। गली कुचो के आलावा लोग मुख्य सडको में बेधड़क घूम रहे और पुलिसकर्मी उन्हें समझाइस दे रहे, उनकी आरती उतारी जा रही है ताकि लोगो को उनकी गलती का एहसास कराया जा रहा पर इसका असर सडको में फर्राटा भरने वालो पर नहीं हो रहा।

तीन दिन पहले पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने आदेश जारी कर नागरिको के साथ दुर्व्यहार ना होने और अकारण बल प्रयोग करने पर एएसपी और सीएसपी को जिम्मेदार बताया था। उसके बाद से पुलिस ने बल प्रयोग बंद कर गाने और आरती की थाल से लोगो से घरो में रहने की अपील कर रही है, जिसका परिणाम विपरीत हो रहा है। कुछ पुलिस अधिकारियो ने नाम न छपने की शर्त पर बताया की

कार्यवाही करने से सस्पेंड होने, लाइन हाजिर और विभागीय जाँच का डर है और लोग प्रेम की भाषा समझने को तैयार नहीं है। ऐसे में गाँधी गिरी से काम कर रहे है।”

पुलिस के जवान बल प्रयोग करे तो सीआर ख़राब होने की परेशानी है और नहीं करने पर समाज कंटको पर अपील का असर नहीं होता है। ऐसे में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के पूर्ण लॉक डाउन का पालन नहीं हो पा रहा है।  पुलिस की ढिलाई का नमूना इस स्तंभकार को  सुबह काली बड़ी चौक में दिखा जब बेवजह लोग बड़ी संख्या में  निकल रहे थे, ऐसे में पुलिस ने लोगो को वापस भेजा तो कुछ के चालान काटे। इससे एक युवती बिफर गई उलटे पुलिस से बदसलूकी करने लगी। युवती के महिला कांस्टेबल बुलाई गई तो वो उससे भी उलझ गई।  युवती का रुतबा ही था की न तो वो वापस गई न ही पुलिस चलन काट सकी। ऐसे दर्जनों किस्से अलग अलग चौक चौराहो पर देखने को मिल रहे है।  पुलिस को लॉक डाउन का पालन कराने सख्ती करनी होगी।

पूर्व महानिदेशक राजीव श्रीवास्तव ने कहा कि

“पुलिस जवानो को सख्ती से लॉक डाउन का पालन करना चाहिए। उन्हें ध्यान रखना चाहिए की अकारण किसी पर बलप्रयोग ना हो। डीजीपी साहब ने आदेशों का पालन जवानो को करना चाहिए।”

-Ad-

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

Follow Me

-Ad-

error: Content is protected !!