बड़ी खबर विशेष

हमने स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिस और सफाईकर्मियों के ताली बजाय, क्यों ना किसानों के लिए ताली बजाए।

“यह समय पुरे विश्व, हमारा राष्ट्र और हमारा पूरा राज्य सभी के लिये बहुत ही कठिन समय है। प्रत्येक नागरिक के जीवन में सायद यह प्रथम बार होगा जब ऐसी परिस्थिति से सामना हो रहा है मैं आशा करता हूँ यह सभी के जीवन में आखिरी भी हो भविष्य में ऐसी कोई विषम परिस्थिति दोबारा न आये।

आजइ महामारी से हम पुरे जी-जान से लड़ रहे हैं और मुझे लगता है कि हम बेहतर स्थिति में हैं। इस महामारी से हम जल्दी ही सही सलामत निकलेंगे। हम सभी लोग मिलकर इससे लड़ रहे हैं। आज शासन-प्रशासन के साथ-साथ हर नागरिक अपनी सहभागिता निभा रहा है। यही तो उस राज्य की उस राष्ट्र की ताक़त होती है जब ऐसे विषम परिस्थिति में सब मिलकर अपनी अपनी जिम्मेदारी बखुबी निभाते हैं।

जिस प्रकार से छत्तीसगढ़ में कोरोना का संक्रमण सामने आया और वर्तमान में जो स्थिति है हम सामुदायिक फैलाव होने से रोकने में सफल हुए हैं। जिस स्थान में संक्रमित व्यक्ति मिले हैं उस जगह को 100% लॉक डाइन किया गया है और संघन जाँच किया जा रहा है। हमारे राज्य के हर नागरिक चाहे वह किसी भी धर्म का हो, किसी भी जाति का हो किसी भी दल का हो सब समान हैं और सभी की स्वास्थ्य सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है। इस समय हर वह व्यक्ति सम्मान के पात्र हैं जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से इस बीमारी से रोकथाम हेतु एक सैनिक के समान लड़ रहा है डॉक्टर हों,चिकित्सा कर्मचारी हो, पुलिस प्रशासन हो, सफाई कर्मचारी हो, मीडिया के क्षेत्र में कार्यरत हों,अनेक सामाजिक समूह/संगठन जो निःस्वार्थ सेवा भाव कर रहें हैं।

हर वह व्यक्ति जो आज कोरोना के खिलाफ लड़ रहा है वह निश्चत ही सम्मान के पात्र हैं। जब इस समस्या से बाहर होंगे स्वस्थ्य सुबह में भयमुक्त वातावरण में साँस लेंगे तब सायद सभी के सम्मान में सबी को याद किया जाये सम्मानित भी किया जाये। मजख्यमंत्री जी में प्रशासन स्तर में उन सभी व्यक्तियों का जानकारी इकठ्ठा करने हेतु पहले ही आदेश जारी कर चुके है। हमारे माननीय प्रधानमन्त्री जी के आह्वान पर हमने चिकित्साकर्मीयों के सम्मान में थाली/ताली और पुरे राष्ट्र की एकता दिखाने के लिये दिप जलाएं, वह आपके/हमारे व्यक्तिगत विचार थे इसपर अभी मैं कुछ नहीं कहना चाहूँगा।

मैं आज बात करना चाहता हूँ हमारे किसान भाइयों के बारे में आज इस विषम परिस्थिति में भी हमे आनाज मिल रहा है, फल,सब्जी, दूध सभी प्रकार के खाद्य सामाग्री मिल पा रहा है तो निश्चित रूप से इसके पीछे हमारे किसान भाइयो का योगदान हैं जिनके कड़ी मेहनत का ही परिणाम है की हमें खाद्य पदार्थो में किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं है। कृषि कार्यो में लगे हमारे किसान भाई पुरे ईमानदारी से मेहनत कर के हमारे लिये ताजा फल एवं सब्जियों की उपलब्धता सुनिश्चित कर रहे हैं उसमे भी बिना किसी अतिरिक्त मूल्य लिये जबकि आज अनेक क्षेत्रो में मूल्य बेतहासा बढ़ाया गया था इसपर जब शासन-प्रशासन ने संज्ञान लिया एवं न्यूनतम-अधिकतम मूल्य निर्धारित किया गया तब व्यपारी वर्ग ने मूल्यों में स्थिरता लाया। अगर आप घर बैठे 2 वक़्त का भोजन प्राप्त कर रहे हो तो कृपया एक बार उस किसान एवं उसके कृषि भूमि के लिये अवश्य धन्यवाद ज्ञापित करिये।

मैं अपने राज्य के प्रत्येक नागरिक से आह्वान करता हूँ कि 15 अप्रैल को प्रातः 9 बजे से रात्रि 9 बजे तक पुरे 12 घंटे आप अपने स्तर में जहा हैं वही से ही किसानो को धन्यवाद देते हुये सन्देश जारी करें। इ

लिये आप सोशल मीडिया का सहारा लें व्हाट्सएप्प फ़ेसबुक ट्विटर, इंस्टा, टेलीग्राम अन्य सभी प्लेटफार्म जो आप उपयोग करते हों वहां किसान के सम्मान में फ़ोटो लगाएं सन्देश डालें । अखबार वाले अपने अखबार में 14 अप्रैल को किसानो के प्रति विशेष धन्यवाद सन्देश जारी करें, टीवी समाचार चैनल हो या मनोरंजन चैनल सभी 15 अप्रैल को अपने-अपने चैनल में किसानो के सम्मान के लिये उनको धन्यवाद सन्देश जारी करें।शासन से विनम्र अपील करना करना चाहता हूँ की हमारे मुख्यमंत्री जी से लेकर मंत्री, विधायक, सांसद, पदाधिकारी, कार्यकर्ता हर व्यक्ति 15 अप्रैल को किसान के सम्मान हेतु धन्यवाद सन्देश जारी करें।

एक मुख्यमंत्री के नाते 15 अप्रैल को अपने राज्य के प्रत्येक ग्राम पंचायत के लिये एक एक पत्र जारी करते हुए उन सभी किसानो को धन्यवाद प्रेषित करें जो प्रत्यक्ष/ अप्रत्यक्ष रूप से कृषि कार्यो में लगें हैं। आइये एक दिन कोरोना के खिलाफ लड़ाई के समय हमारे किसान भाईयो का सम्मान करें उनको धन्यवाद सन्देश प्रेषित करें।

आपका बलवंत खन्ना

बलवंत खन्ना स्वतंत्र पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्त्ता है

(ये लेखक के अपने विचार है।)

-Ad-

Advertisement

-Ad-

Exclusive News

Follow Me

-Ad-

error: Content is protected !!